केंद्रीय रेशम बोर्ड  शत प्रतिशत वित्तीय सहायता और तकनीकी सहायता में करेगा सहयोग शीघ्र भेजें प्रस्ताव : पी शिवकुमार

0
26

रिपोर्ट/मुकेश बछेती

देहरादून(पहाड़ ख़बरसार)
फेडरेशन द्वारा कार्यों की सदस्य सचिव द्वारा की गई  प्रशंसा

केन्द्रीय रेशम बोर्ड, वस्त्र मंत्रालय, भारत  सरकार के नव नियुक्त सदस्य सचिव पी0 शिव कुमार (आई0एफ0एस0) द्वारा अपने दो दिवसीय भ्रमण कार्यक्रम में केन्द्रीय रेशम बोर्ड के राजधानी देहरादून में स्थित  संस्थानों के साथ-साथ रेशम निदेशालय उत्तराखण्ड एवं उत्तराखण्ड को-आपरेटिव रेशम फेडरेशन के प्रेमनगर-देहरादून मुख्यालय के साथ राजकीय रेशम फार्म  झाजरा, ग्रोथ सेन्टर सेलाकुई का भ्रमण किया गया     

सदस्य सचिव भारत सरकार द्वारा सर्वप्रथम सिल्क पार्क,  स्थित रेशम फेडरेशन के मुख्यालय पर अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह, प्रबंध निदेशक, आनन्द शुक्ला, निदेशक रेशम,  श्री प्रदीप कुमार, केन्द्रीय रेशम बोर्ड के अधिकारियों की उपस्थिति में फेडरेशन की वर्तमान की जा रही गतिविधियों की जानकारी प्राप्त की गई। बैठक के दौरान प्रबंध निदेशक   द्वारा   भविष्य की योजनाओं को लेकर केन्द्रीय रेशम बोर्ड, भारत सरकार से वित्तीय एवं तकनीकी सहयोग की अपेक्षा की गई। सदस्य सचिव केन्द्रीय रेशम बोर्ड द्वारा इसी वित्तीय वर्ष में फेडरेशन की और से प्राप्त होने वाले प्रस्तावो    हेतु शत प्रतिशत वित्तीय सहायता प्रदान करने का आष्वासन दिया गया एवं सुझाव दिया गया कि आगामी 15 दिनों में एक विस्तृत परियोजना प्रस्ताव केन्द्रीय रेशम बोर्ड भारत सरकार को उपलब्ध करा दें, जिस पर शीघ्र आपको सहायता प्रदान की जायेगी। 

सदस्य सचिव भारत सरकार द्वारा फेडरेशन  द्वारा वर्तमान में की जा रही गतिविधियों की प्रशंसा की गई एवं सुझाव दिया गया कि आगामी 1 माह के अन्दर सभी उत्पादों पर उनकी विषिष्टता एवं बुनकर/लाभार्थी के विववरण वाले क्यू आर कोड लगा लिये जायें, जिसके लिये केन्द्रीय रेषम बोर्ड, आपको हर संभव सहायता प्रदान करेगा। केन्द्रीय रेषम बोर्ड द्वारा सिल्क पार्क में प्रस्तावित ‘‘ रेशम घर‘‘ का भी भौतिक निरीक्षण किया गया। उसके बाद सदस्य सचिव, केरेबो, भारत सरकार द्वारा ग्रोथ सेन्टर सेलाकुई में रेषम धागाकरण इकाई, साड़ी उत्पादन इकाई एवं कोया बाजार आदि का भ्रमण किया गया जहां पर स्थापित अवस्थापना सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की गई। 

सदस्य सचिव द्वारा ग्रोथ सेन्टर सेलाकुई में निदेषक, रेषम को सुझाव दिया गया कि यदि फेडरेषन को दूनसिल्क के उत्पादों के पूर्ण मूल्य श्रंखला में कोई अवस्थापना सुविधिा की आवश्यकता हो तो सिल्क समग्र-2 में कोसोत्तर सेक्टर में उपयुक्त योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं, यदि संघ की और से प्रस्ताव प्राप्त होता है तो के0रे0बो0, भारत सरकार, प्राप्त प्रस्तावों को प्राथमिकता पर वित्तीय सहायता करेगी।

दिनांक 20/10/2023 को दोपहर बाद रेषम निदेषालय उत्तराखण्ड, प्रेमनगर-देहरादून के मुख्यालय मंे निदेषक रेषम श्री प्रदीप कुमार जी द्वारा उनको औपचारिक स्वागत किया गया एवं रेषम निदेषालय की वर्तमान गतिविधियों, संचालित योजनाओं एवं प्रगति से सदस्य सचिव , केन्द्रीय रेषम बोर्ड, भारत सरकार  को अवगत कराया गया जिसमें विभागीय अधिकारियों के अतिरिक्त केन्द्रीय रेषम बोर्ड, नई दिल्ली, के अधिकारी, देहरादून में अवस्थित केन्द्रीय रेषम बोर्ड के अधिकारी भी सम्मिलित थेे। 

सदस्य सचिव द्वारा निदेषक रेषम को सुझाव दिया गया कि राज्य में गुणवत्ता युक्त रेषम बीज उत्पादन हेतु स्पष्ट नीति होनी चाहिये जिसके लिये उन्हें सरकार के साथ मिलकर आगे बढ़ना चाहिये एवं राज्य में बसंत और मानसून फसलों के अतिरिक्त एक अन्य कामर्षियल रेषम फसल प्रारभ्म करनी चाहिये एवं प्रदेष में चारों प्रकार के रेषम उत्पादन बढ़ाने हेतु ज्यादा से ज्यादा भौज्य पौघों का वृक्षारोपण का चरणवद्ध कार्य करना चाहिये जिससे आने वाले समय में राज्य में रेषम उत्पादन के लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकेगा और उत्तराखण्ड राज्य हिमालयी राज्यों में रेषम उत्पादन में प्रतिस्पर्धा में उच्चतम स्थान पर होगा। 

केन्द्रीय रेशम बोर्ड के सदस्य सचिव द्वारा निदेषक रेषम केेन्द्रीय रेशम बोर्ड, वस्त्र मंत्रालय भारत सरकार की और से हर संभव सहायता एवं सभी परियोजना के लिये समयवद्ध ढ़ंग से धनराषि का आवंटन एवं धनराषि उपलब्ध कराने का शत प्रतिषत प्रयास किया जायेगा जिससे किसी विकास एवं स्वरोजगार की योजना/परियोजना पर कोई प्रतिकूल प्रभाव न पड़े। 

इस अवसर पर उक्त के अतिरिक्त रेषम विभाग के सहायत निदेषक श्री विनोद तिवारी, प्रबंधक रेषम फेडरेषन  मातबर कण्डारी के साथ केन्द्रीय रेषम बोर्ड के क्षेत्रीय संस्थान के प्रभारी वैज्ञानिक डा0 एस0एस0 चौहान, वैज्ञानिक-डी, श्री सुरेन्द्र भट्ट, वैज्ञानिक-डी, श्री सरदार सिंह, वैज्ञानिक डी सहित  विभागीय अधिकारी /कर्मचारी उपस्थित थे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here