DM ने ऋषिकेश-बद्रीनाथ प्राचीन तीर्थाटन पैदल मार्ग पर 22 किलोमीटर पैदल ट्रैकिंग की तय,पैदल मार्ग पर पढ़ रहे विभिन्न गांव में जाकर ग्रामीणों की सुनी समस्याएं

0
73

रिपोर्ट/मुकेश बछेती

जिलाधिकारी को अपने बीच पाकर ग्रामीण काफी उत्साहित नजर याए

पौड़ी(पहाड़ ख़बरसार)जिलाधिकारी डॉ0 आशीष चौहान ने आज ऋषिकेश- बद्रीनाथ तीर्थाटन पैदल मार्ग सिमालो गांव से नांद गांव तक 22 किलोमीटर की पैदल ट्रेकिंग की। इस दौरान उन्होंने पैदल मार्ग पर पढ़ रहे विभिन्न गांवों में ग्रामीणों से वार्ता कर उनकी समस्याएं सुनी। वहीं ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से सिंगटालि पुल को लेकर अपनी बात रखी। पैदल ट्रैकिंग में वन विभाग, पर्यटन विभाग, राजस्व विभाग अधिकारी-कर्मचारी व स्थानीय लोग शामिल थे।


जिलाधिकारी ने ऋषिकेश से बद्रीनाथ तीर्थाटन पैदल मार्ग पर ट्रेकिंग करते हुए बीच-बीच में पढ़ने वाले ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। जिलाधिकारी को अपने बीच पाकर ग्रामीण काफी उत्साहित नजर आए। ग्रामीणों ने कहा कि जनपद में पहले जिलाधिकारी हैं जिन्होंने 22 किलोमीटर पैदल ट्रैकिंग करते हुए स्थानीय लोगों की समस्याएं सुनी। इस दौरान जिलाधिकारी ने सीमालू, महादेव चट्टी, किनसूर, घेड़, बिलोगी, घाँगुगढ़ सिंकटाली सहित विभिन्न गांवों में पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि जो समस्या अवगत हुई है जल्द उन समस्याओं का निराकरण किया जाएगा।
जिलाधिकारी ने कहा कि ऋषिकेश- बदरीनाथ प्राचीन तीर्थाटन पैदल मार्ग का जीणोद्धार किया जाएगा। जिससे इन क्षेत्रों में पर्यटकों की आवाजाही पहले जैसे बनी रहेगी। कहा की पर्यटकों के आने से स्थानीय लोगों को भी रोजगार के अवसर प्रदान होंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि ऋषिकेश- बद्रीनाथ पैदल मार्ग पर साइकिलिंग, कयाकिंग सहित अन्य गतिविधि भी शामिल की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस मार्ग पर पड़ने वाले पुराने डाक बंगले व धर्मशालाओं का भी जीणोद्धार किया जाएगा। जिससे पर्यटकों को ठहरने की सुविधा मिल सकेगी।
जिलाधिकारी ने रास्ते में पड़ने वाले गंगा के व्यू वनस्पति और वन्य जीव की जैव विविधता तथा प्राकृतिक झरनों व पानी के स्रोतों से अभिभूत हुए। उन्होंने तीर्थाटन वह साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए व्यापक संभावनाएं तलाशी। उन्होंने ग्रामीणों से बातचीत करते हुए कहा की प्राचीन ऋषिकेश बदरीनाथ तीर्थाटन पैदल मारकापुर रोड द्वार होने से इसके मार्ग पर पड़ने वाले गांव और ग्रामीणों की आर्थिकी मजबूत होगी।
इस अवसर पर डीएफओ गढ़वाल स्वप्निल अनिरूद्ध, जिला पर्यटन विकास अधिकारी प्रकाश खत्री, सहायक अभियंता लोनिवि मुकेश सकलानी, ग्राम प्रधान किनसूर दीपचंद शाह सहित ग्रामीण उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here