एसएसपी पौड़ी श्वेता चौबे के निर्देशन में चारधाम यात्रा से पूर्व यात्रा ड्यूटी में नियुक्त पुलिस बल, होमगार्ड एवं पीआरड़ी जवानों को दिया जा रहा 02 दिवसीय विशेष प्रशिक्षण

0
36

रिपोर्ट/मुकेश बछेती

यात्रियों की सुरक्षा व सहायता के सिखाये जा रहे गुर।

02 दिवसीय प्रशिक्षण का वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पौड़ी श्रीमती श्वेता चौबे ने किया उद्धाटन।

पौड़ी/श्रीनगर(पहाड़ ख़बरसार)चारधाम यात्रा के थाना श्रीनगर एवं देवप्रयाग क्षेत्र मुख्य पड़ाव* हैं। देवप्रयाग-श्रीनगर से ही बद्रीनाथ केदारनाथ की यात्रा का संचालन होता है। जिस कारण यहाँ पर तैनात पुलिस बल की जिम्मेदारियाँ और भी बढ़ जाती हैं। जिसके दृष्टिगत आगामी चारधाम यात्रा-2023 को सकुशल सम्पन्न कराने के दृष्टिगत यात्रा में नियुक्त पुलिस कार्मिकों को यात्रा रूट पर तैनाती से पूर्व महिला थाना श्रीनगर में 02 दिवसीय विशेष प्रशिक्षण के अन्तर्गत आपदा बचाव, पर्यटकों के साथ पुलिस का व्यवहार, Cardiopulmonary resuscitation (CPR), First Aid की जानकारी, ट्रैफिक नियमों की जानकारी तथा आपदा की स्थिति में रूट डायवर्जन आदि की जानकारी दी जा रही है।

   उक्त 02 दिवसीय प्रशिक्षण का आज दिनाँक 10.04.2023 को *वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदया श्रीमती श्वेता चौबे द्वारा उद्धाटन* किया गया। महोदया द्वारा पुलिस कार्मिकों को *पर्यटकों एवं आम जनता के साथ मित्र पुलिस* की तरह व्यवहार कर उनकी हर *सम्भव सहायता एवं सुरक्षा करने,* आपदा की स्थिति में तैयारी की हालत में रहने हेतु के निर्देशित किया गया। साथ ही महोदया ने बताया कि *आगामी चारधाम यात्रा को लेकर पुलिस ने तैयारियां पुख्ता* कर ली है। इस बार चारधाम मार्गों पर अतिरिक्त पुलिस बल के साथ उपरोक्त 02 दिवसीय प्रशिक्षण देकर *होमगार्ड एवं पीआरडी जवानों को भी तैनात* किया जाएगा ताकि यात्रा के दौरान किसी भी श्रद्धालु/पर्यटक को कोई समस्या न हो। यात्रा ड्यूटी में नियुक्त पुलिस कार्मिकों, होमगार्ड एवं पीआरड़ी जवानों को अपने क्षेत्र के *पेट्रोल पंपो, वाहनों के सर्विस सेन्टरों, पर्यटक स्थलों, पार्किगों, मन्दिरों* आदि की जानकारी अवश्य रूप से होनी चाहिये।

➡️ चारधाम यात्रा के दौरान किसी आपदा की घटना घटित होने पर त्वरित कार्यवाही हेतु घायलों को तत्काल प्राथमिक उपचार देने, घायलों की सहायता करने, रॉक क्लाइबिंग, रेपलिंग, रिवर क्रॉसिंग, घायल व्यक्तियों को ऊँचाई वाले स्थानों से सुरक्षित निकलने के सम्बन्ध में प्रशिक्षण दिया गया।

➡️ पर्यटकों के साथ सॉफ्ट स्किल के तहत मृदु भाषी रहते हुये उनको यथा सम्भव सहायता एवं सुरक्षा प्रदान करने के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी।

➡️ चारधाम यात्रा के दौरान दुर्घटना घटित होने पर जब किसी श्रद्धालु/पर्यटक को सांस लेने में दिक्कत हो या फिर वो सांस न ले पा रहा हो अथवा बेहोश जो जाए तो इस स्थिति में तत्काल प्राथमिक उपचार प्रदान करते हुये अस्पताल ले जाने तक CPR के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी।

➡️ चारधाम यात्रा के दौरान किसी प्रकार की दुर्घटना घटित होने पर श्रद्धालु/पर्यटक के घायल हो जाने पर अस्पताल ले जाने से पूर्व दिये जाने वाले प्राथामिक उपचार के सम्बन्ध में पुलिस कार्मिकों को First Aid (प्राथमिक उपचार) एवं घायल यात्रियों को प्राथमिक उपचार के बाद कैसे स्वास्थ्य केन्द्र तक पहुँचाना है और केसे खाई से निकालना है, की जानकारी दी गयी।

उक्त प्रशिक्षण में पुलिस उपाधीक्षक श्रीनगर श्री श्याम दत्त नौटियाल, प्रभारी निरीक्षक श्रीनगर श्री रवि कुमार सैनी, मेडिकल कॉलेज श्रीनगर से मनोवैज्ञानिक चिकित्सक श्रीमती नीतू जखमोला, (HOD) फिजीशियन श्री के एस बुटोला, (HOD) अस्थिरोग विशेषज्ञ श्री दयाकिशन टम्टा एवं एसडीआरएफ टीम श्रीनगर द्वारा पुलिस कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here