पुरानी पेंशन बहाली को लेकर प्रदेश के सभी कार्मिक डटे हुए है मोर्चे के साथ-सीताराम पोखरियाल मोर्चा प्रांतीय महासचिव

0
121

रिपोर्ट/मुकेश बछेती

देहरादून(पहाड़ ख़बरसार)आज राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली सँयुक्त मोर्चा के तत्वाधान में प्रेस वार्ता की गई , जिसमे मोर्चा के पदाधिकारियों ने पुरानी पेंशन बहाली के लिए मोर्चे के कार्यक्रमों से एवं आगामी रणनीति अवगत कराया। मोर्चे प्रदेश प्रभारी विक्रम रावत ने कहा कि मोर्चे द्वारा उत्तराखंड में पुरानी पेंशन बहाली के लिए संघर्ष वर्ष 2020 में एक दीपक ओपीएस के नाम से प्रारम्भ किया गया। जो संघर्ष अब पुरानी पेंशन बहाली तक अनवरत चलेगा लोकसभा चुनाव से पहले उत्तराखण्ड में हर माह उग्र कार्यक्रम किये जायेंगे। मोर्चे के प्रदेश महासचिव सीताराम पोखरियाल ने कहा कि मोर्चा आज उत्तराखंड में पुरानी पेंशन बहाली के संघर्ष का पर्याय बन चुका है। आज पुरानी पेंशन बहाली के संघर्ष हेतु प्रदेश का कार्मिक मोर्चे के साथ खड़ा है और सभी के सहयोग से 2024 तक पुरानी पेंशन बहाली का लक्ष्य रखा गया है। मोर्चे के प्रदेश उपाध्यक्ष रोहित जोशी ने कहा कि उत्तराखंड सरकार से हम लगातार पुरानी पेंशन की मांग कर रहे हैं, विधायक मंत्रियों को पुरानी पेंशन एवं कर्मचारियों को नई पेंशन देकर दोहरी नीति अपनाई जा रही है। जिसे उत्तराखंड का कार्मिक बर्दाश्त नही करेगा। मोर्चे के प्रदेश आई टी सेल प्रमुख अवधेश सेमवाल ने कहा मोर्चे की स्थापना से मोर्चे द्वारा कोरोना काल मे अपनी जिम्मेदारियों को समझते हुए पूरे प्रदेश में सहायता कार्यक्रम चलाया जिसके तहत राशन वितरण , आर्थिक सहयोग किया गया । किंतु सरकार द्वारा कर्मचारियों के हित मे पुरानी पेंशन बहाली नही की जा रही है जो सरासर अन्याय है। मोर्चे के देहरादून जिलाध्यक्ष मक्खन लाल शाह ने कहा किमोर्चे का एक मात्र मिशन पुरानी पेंशन है। अगर सरकार जल्द पुरानी पेंशन बहाल नही करती तो आने वाले समय मे सरकार को लोक सभा एवं निकाय चुनावों में कर्मचारियों के रोष का सामना करना पड़ सकता है। मोर्चे के जनपद चमोली महासचिव सतीश कुमार ने कहा कि  मोर्चे द्वारा हाल ही में नई दिल्ली में संसद मार्च किया गया। जिसकी व्यापक सन्देश पूरे देश मे गया है  उत्तराखंड सरकार जल्द से जल्द पुरानी पेंशन बहाल करे। मोर्चे के टिहरी महासचिव खुशहाल रावत ने कहा कि  उत्तराखंड का कर्मचारी अब पुरानी पेंशन बहाली के लिये अब आर या पार की लड़ाई के मूड में है। सरकार जल्द से जल्द पुरानी पेंशन बहाल हो वार्ता में सुभाष देवलियाल, बबिता रानी , सुखपाल बिष्ट परमानंद भटियाणी,राजीव नयन उनियाल,अनिल बडोनी,संजय भाष्कर, दीपक जोशी,शम्भू प्रसाद त्रिपाठी, खुशाल सिंगज रावत,सुखपाल सिंह बिष्ट, आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here