*ब्रेकिंग/आत्महत्या करने वाली घुड़दौड़ी कॉलेज की असिस्टेंट प्रोफेसर के पति ने दी विभाग के एचओडी और निदेशक के ख़िलाफ़ आत्महत्या के लिये मजबूर करने की तहरीर*

0
51

रिपोर्ट/रीमा नेगी

पौड़ी(पहाड़ ख़बरसार)श्रीनगर में अलकनंदा नदी में कूद मारने वाली जीबी पंत इंजीनयरिंग कॉलेज की असिस्टेंट प्रोफेसर मनीषा भट्ट की उपचार के दौरान मौत हो गई है,बेस अस्पताल में तीन घंटे तक जिंदगी ओर मौत से जूझने के बाद आखिरकार महिला ने दम तोड़ दिया।दरअसल श्रीनगर गढ़वाल में बीते गुरूवार को एक महिला ने अलकनंदा नदी में छलांग मार दी थी, लेकिन इस दौरान एक युवक द्वारा नदी में कूद कर महिला को अलकनंदा के तेज बहाव से बचा लिया गया। जिसके बाद पुलिस व स्थानीय लोगों की सहायता से महिला को संयुक्त अस्पताल में भर्ती कराया गया,यंहा प्राथमिक उपचार के बाद महिला को बेस अस्पताल श्रीकोट भेजा गया,लेकिन यहॉ महिला ने उपचार के दौरान देर शाम दम तोड़ दिया।मृतका असिस्टेंट प्रोफ़ेसर के पति जो कि गढ़वाल केन्द्रीय विश्वविद्यालय के श्रीनगर परिसर में कार्यरत बताये जा रहे हैं,ने श्रीनगर थाना/ सीओ श्रीनगर को अपनी तहरीर देकर कहा है कि उनकी पत्नी का उनके पूर्व विभागाध्यक्ष और कॉलेज के वर्तमान निदेशक डॉ वाई.सिंह तथा विभाग के मौजूदा विभागाध्यक्ष डॉ ए. के.गौतम ने लगातार उत्पीड़न किया और उनकी पत्नी के मातृत्व अवकाश और बाद में पदोन्नति में रोड़े अटकाकर बेहद परेशान किया,जिस वजह से बेहद परेशान होकर उनकी पत्नी ने आत्महत्या कर ली है। मृतका के पति ने अपनी तहरीर में वर्तमान विभागाध्यक्ष डॉ ए. के.गौतम पर अपने पूर्ववर्ती कार्यकाल में गौतम बुद्धा विश्वविद्यालय ग्रेटर नोएडा में भी महिला प्रोफेसर से छेड़छाड़ करने,जिसके बाद गौतम को कॉलेज से निष्कासित कर दिया गया तथा वर्ष 2014 में घुड़दौड़ी इंजीनियरिंग कॉलेज में भी एक छात्रा के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुये कहा है कि तब मामले को वर्तमान निदेशक डॉ वाई.सिंह ने दबा दिया था।मृतक के पति ने विभागाध्यक्ष डॉ ए.के.गौतम और निदेशक डॉ याई.सिंह के विवादास्पद इतिहास का भी संज्ञान लेते हुये पुलिस से दोनों प्रोफेसरों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने निवेदन किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here