10 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा गया सर्वे लेखपाल

0
115

रिपोर्ट/मुकेश बछेती

देहरादून(पहाड़ ख़बरसार)शिकायतकर्ता द्वारा भ्रष्टाचार की रोकथाम हेतु हैल्प लाईन नं0 1064 के माध्यम से शिकायत दर्ज की उसके पिता द्वारा वर्ष 1991 में बंशीपुर हरबर्टपुर मे दो जमीने खरीदी थी जो उनके नाम दर्ज थी, जिनकी मृत्यु दिनांक 14.08.1996 को हो गयी थी, परन्तु दोनो जमीनों में अभी तक शिकायतकर्ता के परिवार के सदस्यों के नाम वारिसान के रूप में दर्ज नहीं हुआ है।

वारिसान में नाम दर्ज कराने के लिये करीब एक महीने पहले अपने क्षेत्र के पटवारी ओमप्रकाश ऐटनबाग क्षेत्र को दि0 12.04.2023 को शिकायतकर्ता ने अपने बडे भाई कमल नेगी के नाम से एक प्रार्थना पत्र और बताये गये कागजात पटवारी ओमप्रकाश को दिये और जमीनों में वारिसान मे नाम चढाने को कहा तो ओमप्रकाश ने उससे 10 हजार रूपये रिश्वत की मांग की जा रही थी । पुलिस अधीक्षक, सतर्कता सैक्टर देहरादून रेनू लोहनी द्वारा शिकायती प्रार्थना पत्र में अंकित आरोपों का संज्ञान लेते हुए गोपनीय रूप से जांच करायी गयी । जांचोपरान्त लगाये गये आरोग प्रथम दृष्टया सही पाये गये । जिस पर एक त्वरित ट्रैप टीम का गठन किया गया ।

दिनांक 24-04-2023 को ट्रैप टीम द्वारा अभियुक्त ओमप्रकाश पुत्र स्व0 वृज लाल निवासी केदारपुरम देहरादून हाल तैनाती सर्वे लेखपाल ऐटनबाग क्षेत्र तहसील विकास नगर को ट्रैप टीम द्वारा अपराहन लगभग डेढ़ बजे शिकायतकर्ता से दस हजार रूपये की रिश्वत ग्रहण करते हुए स्वतंत्र गवाहो के समक्ष रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here