राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा 1 अक्टूबर को मनाएगा काला दिवस-सीताराम पोखरियाल

0
36

रिपोर्ट/मुकेश बछेती

देहरादून/पौड़ी(पहाड़ ख़बरसार)राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा ने 10 अगस्त को दिल्ली में हुई महारैली की सफलता के बाद एक गूगल बैठक के माध्यम से प्रदेश के सभी कार्मिकों को सहयोग एवं इसे सफल बनाने के लिए बधाई एवं धन्यवाद दिया। बैठक के माध्यम से वक्ताओं ने कहा कि अब वक्त आ गया है कि केंद्र एवं राज्य सरकार पर लगातार दबाव बनाए जाए और इस मांग को और जोर-शोर से उठाया जाए। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि 1 अक्टूबर 2004 से उत्तराखंड में पुरानी पेंशन बंद कर नई पेंशन लागू की गई थी और राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा हर वर्ष इस दिन को काला दिवस के रूप में मनाता है। प्रदेश प्रभारी विक्रम सिंह रावत ने कहा कि इस बार भी 1 अक्टूबर को राज्य के सभी कार्मिक उत्तराखंड में काला दिवस मनाएंगे तथा साथ ही मुख्यमंत्री आवास घेराव एवं एनपीएस की प्रतियां भी जलाई जाएंगी। प्रदेश महासचिव सीताराम पोखरियाल ने कहा कि प्रदेश में 1 अक्टूबर कार्मिकों के लिए काला दिन है और हम तब तक संघर्ष करते रहेंगे जब तक कि पुरानी पेंशन बहाल नहीं हो जाती। प्रदेश अध्यक्ष जयदीप रावत ने कहा कि काला दिवस उसी दिन समाप्त होगा जिस दिन पूरे देश में कार्मिकों के लिए जीपीएफ आधारित पुरानी पेंशन बहाल होगी और उनका भविष्य सुरक्षित होगा। गढ़वाल मंडल अध्यक्ष पूरन सिंह फर्सवान ने कहा कि 1 अक्टूबर के बाद भी हमें लगातार विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से पुरानी पेंशन बहाली के लिए अभियान जारी रखना होगा। जिसमें 9 नवंबर स्थापना दिवस पर भी हमें गैरसैण विधान सभा कूच करना होगा। कुमाऊं मंडल के अध्यक्ष योगेश घिल्डियाल ने कहा कि 10 अगस्त की दिल्ली रैली की सफलता को देखते हुए केंद्र सरकार भी सकते में है और उसे एहसास हो रहा है कि अब कार्मिक एकजुट होने लगे हैं। गूगल बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष वीपी सिंह रावत ने बताया कि यद्यपि केंद्र सरकार अभी कोई घोषणा नहीं कर रही है लेकिन वह बहुत दबाव में है और यही कारण है कि दिल्ली में रैली के तुरंत बाद संयुक्त मंच के पदाधिकारियों को वार्ता हेतु बुलाया गया। जिसमें पदाधिकारियों द्वारा स्पष्ट कर दिया गया है कि कार्मिक पुरानी पेंशन से कम किसी भी मुद्दे पर समझौता नहीं करेंगे। गढ़वाल मंडल सचिव नरेश भट्ट ने कहा कि हमें अपनी कार्यक्रमों को पूर्व की भांति धरातल एवं सोशल मीडिया के माध्यम से चलाते रहने चाहिए। गढ़वाल मंडल महिला उपाध्यक्ष रश्मि गौड़ ने कहा कि अब कार्मिक पीछे हटने वाला नहीं है और केंद्र तथा राज्य पर लगातार पुरानी पेंशन बहाली के लिए दबाव बनाता रहेगा। बैठक में दिनेश चंद्र नेगी, राजीव उनियाल, परमवीर सिंह रावत, ज्योति पन्त, नरेंद्र पटवाल, प्रतिभा, कुंवर सिंह, आकाश जोशी, अवधेश सेमवाल, हरेंद्र सिंह रावत, शंकर भट्ट, रणबीर सिंह सिंधवाल, नॉर्दन रेलवे से उग्रसेन सिंह सचिव नॉर्दन रेलवे देहरादून, नरेश कुमार शाखा सचिव, रमेश कुमार शाखा अध्यक्ष, बी एस राजपूत, जगदीश चंद्र चिमवाल आदि उपस्थित थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here